#आदिवासी_समाज_ने_पुलिस_पर_लगाया_मुर्गी_सुअर_व_शराब_का_जुर्माना

नई दुनिया, Mon, 26 Mar 2018
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
मेरे देश का आदिवासी अब जाग रहा हैं – पेज एडमिन
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

पुलिस पर मुर्गी, सुअर व अन्य चीजों का दंड लगाया है। इस बाबत थाना प्रभारी लोहंडीगुड़ा को सूचना पत्र भी दिया गया है।

जगदलपुर। लोहंडीगुड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम नारायणपाल के आदिवासियों द्वारा माटी तिहार मनाए जाने के दौरान बाट छेकनी रस्सी को जब्त करने व गाली-गलौज करने का आरोप लगाते हुए पुलिस पर मुर्गी, सुअर व अन्य चीजों का दंड लगाया है। इस बाबत थाना प्रभारी लोहंडीगुड़ा को सूचना पत्र भी दिया गया है।

जनपद सदस्य व सर्व आदिवासी समाज के सदस्य रुक्मणी कर्मा ने बताया कि परम्परा अनुसार शुक्रवार को गांव में माटी त्यौहार मनाया जाता है। इस दिन मिट्टी संबंधित कार्यों का निषेध होता है। ग्राम्य देवता की अनुमति से गांव के बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रस्सी से रास्ता रोककर तप डांड के रूप में पांच से दस रुपये लिया जाता है। नेंग पूरा होने पर बंधन हटा लिया जाता है। शुक्रवार को लोहंडीगुड़ा थाने से कुछ पुलिसकर्मी पहुंचे और कहा कि तुम लोग चंदा कर त्योहार मनाओ। साथ ही रस्सी भी जब्त कर लिया।

इस घटना के बाद आदिवासियों की एक बैठक आयोजित की गई जिसमें विचार किया गया कि इस घटना से मूल समाज की भावनाएं आहत हुई हैं। निर्णय लिया गया कि पुलिस पर इस हस्तक्षेप के लिए दंड लगाया जाए। सर्वसहमति से सुअर, चिंया (मुर्गी बच्चा), करिया चिंआ (काला मुर्गी बच्चा), एक चोखनी चाऊर, मोहु डोंगा (शराब), नुआगार (अंडा) व मानसेशा (अंडे का छिलका ) बतौर पुलिस पर जुर्माना करने का निर्णय लिया गया।

समाज की ओर से इस आशय का सूचना पत्र भी थाना प्रभारी लोहंडीगुड़ा को दिया गया है। पत्र में सर्व आदिवासी समाज सदस्य हिडमो मंडावी, हेमंत पोयाम, टंकेश्वर भारद्वाज, गंगाराम, सकरूराम, श्रीराम मौर्य आदि ने हस्ताक्षर किए हैं। इर इस पूरे घटनाक्रम के बाद आदिवासी समाज के लोगों में पुलिस के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है।

समाज के पदाधिकारियों का कहना है कि पुलिस आदिवासी संस्कृति में गलत तरीके से हस्तक्षेप कर रही है, जो उचित नहीं है। इर पुलिस का कहना है कि पारम्परिक त्योहार में किसी प्रकार का हस्तक्षेप का आरोप बेबुनियाद है।

#इनका कहना है

पुलिस को यह शिकायत मिली थी कि ग्रामीण आवागमन बाधित करके चंदा वसूल रहे हैं – राकेश कुमार कुर्रे एसडीओपी, लोहंडीगुड़ा,बस्तर, छःग

By Editorial Tea

Advertisements